कोरोना संकट के बीच आर्मी की ये बड़ी पहल, पीएम मोदी ने दिया समर्थन

भारतीय सशस्त्र बल महामारी के संकट के बीच जान जोखिम में डालकर जन सेवा कर रहे कोरोना योद्धाओं को खास कार्यक्रम के तहत 3 मई को शुक्रिया कहेगा। इस एलान के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने तीनो सेनाओं की पहल की तारीफ़ करते हुए समर्थन किया।

पीएम मोदी ने सेना और कोरोना योद्धाओं के लिए किया ट्वीट

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ‘मैं रक्षा विभाग के चीफ की पहल का स्वागत करता हूँ। भारत ने अपने साहसी अग्रिम पंक्ति पर काम करने वाले जांबाजों के साथ मिलकर कोविड-19 के खिलाफ जंग छेड़ी है और उन्होंने कई मरीजों की देखभाल कर उन्हें स्वस्थ किया है। वे (कोरोना योद्धा) शानदार हैं। भारत उनकी और उनके परिवार की सराहना करता है।’

उन्होंने रक्षा विभाग की तारीफ़ करते हुए लिखा, ‘भारतीय सशस्त्र बलों ने हमेशा देश को सुरक्षित रखा है। आपदा के समय भी वे लोगों की मदद के लिए मौजूद रहते हैं। हमारे सशस्त्र बल अब खास अंदाज में देश को कोविड-19 से मुक्त करने के लिए अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे लोगों को शुक्रिया अदा कर रहे हैं।’

3 मई को कोरोना योद्धाओं को सेना करेगी शुक्रिया

बता दें कि शुक्रवार को सीडीएस बिपिन रावत के साथ तीनों सेनाओं (थल-जल और वायु सेना) के प्रमुख आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरावणे, एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया, एडमिरल करमबीर सिंह ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी, जिसमें उन्होंने कोरोना योद्धाओं को सेना की ओर से शुक्रिया करने के लिए 3 मई को ख़ास गतिविधियाँ करने का एलान किया।

सेनाएं करेगी ये काम

जिसमें एयर फोर्स श्रीनगर से तिरुअनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक फ्लाइ पास किया जाएगा।वहीं नेवी 3 मई की शाम समुद्र किनारों को रोशनी से जगमगायेगी। नेवी तटीय क्षेत्रों में अपने युद्धक जहाज तैनात करेगी। ये वॉरशिप्स रोशनी से जगमगाएंगे और नेवी के हेलिकॉप्टर्स कुछ अस्पतालों और खासकर कोविड स्पेशल अस्पतालों पर फूल बरसाएंगे।इसके अलावा थल सेना देशभर के करीब-करीब सभी जिलों के कुछ कोविड अस्पतालों के साथ माउंटेन बैंड डिस्प्ले करेगी और सशस्त्र बल भी पुलिस बल के समर्थन में देश भर में पुलिस मेमोरियल पर माल्यार्पण करेगी।

 

कोरोना से निपटने के लिए सेना कर रही देश की ऐसे मदद

बता दें कि सेना भी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कई अहम कार्य कर रही है। इसके तहत सेना देश के कई क्वारंटीन सेंटरों की जिम्मेदारी संभाल रही है तो वहीं पडोसी देशों में अपनी टीम भेज कर संक्रमण से निपटने की योजना बना रही है। इतना ही नहीं सेना ने अपनी हथियार डील भी कैंसिल कर दी है, ताकि बजट का इस्तेमाल देश के कोरोना वायरस से निपटने के लिए हो सके।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *